12 नवंबर 2010

यह कविता पोस्टर्स खास आपके लिये

                    जन संस्कृति मंच का 12 वाँ राष्ट्रीय सम्मेलन 


आगामी 13- 14 नवम्बर 2010 को जन संस्कृति मंच का 12 वाँ राष्ट्रीय सम्मेलन भिलाई - दुर्ग में होने जा रहा है । इस सम्मेलन का उद्घाटन सत्र शनिवार 13 नवम्बर 2010 को शाम 4 बजे शहीद शंकर गुहा नियोगी हाल . बी मार्केट सेक्टर छह भिलाई में सम्पन्न होगा । उद्घाटन सत्र में “ मुक्तिबोध स्मृति व्याख्यान माला “ के अंतर्गत “ सत्ता और संस्कृति विषय पर मुख्य वक्ता श्री मंगलेश डबराल का व्याख्यान होगा । श्री अनिल सदगोपाल व श्री नवारुण भट्टाचार्य के अतिरिक्त मित्र संगठनों के वक्ताओं का भी सम्बोधन होगा । अध्यक्षीय सम्बोधन प्रो. मैनेजर पाण्डेय करेंगे ।


सम्मेलन का दूसरा सत्र इसी दिन शाम 7.30 पर प्रारम्भ होगा जिसमे “ भारतीय चित्रकला के प्रगतिशील पक्ष पर श्री अशोक भौमिक का व्याख्यान होगा ।

तीसरा सत्र रात 8 बजे से प्रारम्भ होगा जिसमें बंगाल के लोक गीत नृत्य “ बाउल “ की प्रस्तुति की जायेगी ।



इस अवसर पर कला कम्युन बनारस व स्थानीय कलाकारों की कृतियों का प्रदर्शन भी किया जायेगा । कला कम्युन बनारस की ओर से कलाकार राधिका जी अर्जुन जी ने कुछ कविता पोस्टर्स भी तैयार किये हैं ।

इन पोस्टर्स में से बाबा नागार्जुन की कविताओं पर बने तीन  पोस्टर्स मैं यहाँ प्रस्तुत कर रहा हूँ ।




14 नवम्बर की शाम श्री नवारुण भट्टाचार्य की अध्यक्षता में आयोजित काव्यपाठ में सर्वश्री विनोद कुमार शुक्ल , मंगलेश डबराल , वीरेन डंगवाल , मदन कश्यप , पंकज चतुर्वेदी , विद्रोही जी , व्योमेश शुक्ल , शिरीष मौर्य सहित अन्य आमंत्रित कवि काव्यपाठ करेंगे ।

2 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुकून मिला पोस्टर देख के. लगा हम अपनी पोस्टर प्रदर्शनी में पहुंच गये हों. १९८८ में हमने बाकायदा पोस्टर प्रदर्शनी लगायी थी, अपने वरिष्ठ लोगों के निर्देशन में. जिसमें मैने भी बाबा और केदारनाथ सिंह जी की कविताओं पर पोस्टर बनाये थे.

    उत्तर देंहटाएं
  2. संजीव भाई की आपके बारे में एक पोस्ट को पढ़ कर मन में दर्द भी उठा, टीस भी..पर फिर एक प्रेरणा भी और जोश भी...

    मुझे याद आ गये हमारे एक शायर थे लाल सिंह दिल....उनका ज़िक्र अलग से भेज रहा हूँ फिलहाल आपके अंदाज़-ए-ब्यान को सलाम करना चाहता हूँ....और संजीव जी के भी...!

    सारे जहां के दर्द से भरा आपका मन सभी के लिए प्रेरणा स्रोत है ....

    पंजाब स्क्रीन में आपकी इस पोस्ट की भी चर्चा है और पोस्टरों की भी.....

    पंजाब स्क्रीन का यह लिंक भी यहाँ है......
    http://punjabscreen.blogspot.com/2010/11/blog-post_14.html

    उत्तर देंहटाएं

आइये पड़ोस को अपना विश्व बनायें