15 नवंबर 2010

जसम के राष्ट्रीय सम्मेलन की तीन पन्नों की विस्तृत लिखित रपट

ब्लॉगर ,कवि , रंगकर्मी व पत्रकार राजकुमार सोनी भी उपस्थित थे 

गजानन माधव  मुक्तिबोध

मंच पर गणमान्य अतिथि 


दुर्ग भिलाई में विगत 13 एवं 14 नवम्बर को जन संस्कृति मंच का 12 वाँ राष्ट्रीय सम्मेलन सम्पन्न हुआ । प्रस्तुत है इस सम्मेलन के दूसरे दिन शाम तक की लिखित रपट । इसे पढ़ने के लिये पन्ने पर क्लिक करें ।
पहला पन्ना 
दूसरा पन्ना 
तीसरा पन्ना 

5 टिप्‍पणियां:

  1. बढ़िया रिपोर्टिंग ...हम भी जैसे सम्मलेन में हो :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. शुक्रिया इस रपट को यहाँ पढवाने के लिए .

    पाल राबर्टसन की पंक्तियाँ अपने आप में बहुत कुछ कहती हैं और आज भी उतनी ही प्रासंगिक है इस बात में कोई दो राय नहीं हो सकती

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाह...शरद भाई,
    आप तो काफी कुछ कर लेते हैं...इतना समय कैसे निकाल पाते हैं...?

    उत्तर देंहटाएं
  4. ब्लॉग जगत में पहली बार एक ऐसा सामुदायिक ब्लॉग जो भारत के स्वाभिमान और हिन्दू स्वाभिमान को संकल्पित है, जो देशभक्त मुसलमानों का सम्मान करता है, पर बाबर और लादेन द्वारा रचित इस्लाम की हिंसा का खुलकर विरोध करता है. साथ ही धर्मनिरपेक्षता के नाम पर कायरता दिखाने वाले हिन्दुओ का भी विरोध करता है.
    इस ब्लॉग पर आने से हिंदुत्व का विरोध करने वाले कट्टर मुसलमान और धर्मनिरपेक्ष { कायर} हिन्दू भी परहेज करे.
    समय मिले तो इस ब्लॉग को देखकर अपने विचार अवश्य दे
    .
    जानिए क्या है धर्मनिरपेक्षता
    हल्ला बोल के नियम व् शर्तें

    उत्तर देंहटाएं

आइये पड़ोस को अपना विश्व बनायें